रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह को धोखाधड़ी के आरोप में दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
Former Ranbaxy promoters Shivinder Singh and Malvinder Singh

 


TOC NEWS @ www.tocnews.org


खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036


 


रैनबैक्सी के पूर्व सीईओ शिविंदर सिंह समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यह गिरफ्तारी रेलीगेयर की शिकायत के बाद हुई है. रेलीगेयर ने चारों पर 740 करोड़ रुपये की हेराफेरी का आरोप लगाया है. गिरफ्तारी दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने की है.


सिंह भाइयों ने अपनी दवा कंपनी रैनबैक्सी को जापान की एक दवा निर्माता कंपनी के हाथों 4.6 बिलियन डॉलर में बेच दी थी. रैनबैक्सी के पूर्व प्रवर्तक शिविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) ने गुरुवार को हिरासत में ले लिया।


इसे भी पढ़ें :- ब्रेकिंग न्यूज़ : ग्रेसिम उद्योग गेट मीटिंग के दौरान चलिए लाठियां, मजदूरों के फटे सर, देखे वीडियो


दिसंबर 2018 में रेलिगेयर एंटरप्राइज लिमिटेड (REL) की सब्सिडियरी रेलिगेयर फिनफेस्ट (RFL) के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज कराई थी। कंपनी ने यह शिकायत दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग में रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मलविंदर सिंह और शिविंदर मोहन सिंह के खिलाफ की थी।   


इसे भी पढ़ें :- सोनाली फोगाट ने रैली में भारत माता के नारे नहीं लगाने वालों से पूछा, क्या वे पाकिस्तानी हैं?


उस शिकायत में एक्स सीएमडी सुनील गोधवानी का भी नाम था। इन पर धोखाधड़ी और 740 करोड़ रुपये के फंड्स के गबन की शिकायत की गई थी।     


इसे भी पढ़ें :- अय्याशी करते नजर आए JDU के नेता, लड़की संग वायरल हो रहा है वीडियो


ये शिकायत धोखा, विश्वास का आपराधिक उल्लंघन, जालसाजी, आपराधिक साजिश के तहत रजिस्टर की गई। आरईएल की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि ये शिकायत आंतरिक जांच के बाद फाइल की गई। ये जांच आरएफएल बोर्ड और मैनेजमेंट ने की। आरईएल पर सिंह भाईयों का फरवरी 2018 तक नियंत्रण था। उनके जाने के बाद कंपनी का बोर्ड फिर से गठित किया गया।