नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर तीन दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन
नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर तीन दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन

TOC NEWS @ www.tocnews.org


जबलपुर से प्रशांत वैश्य की रिपोर्ट


जबलपुर। पशु चिकित्सा एवं पशु पालन महाविद्यालय नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर में साबुन ऊपर तीन दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन दिनांक 21 जनवरी से 23 जनवरी 2020 तक आयोजित है जिसका उद्देश्य वर्तमान परिपेक्ष में सावन ओं के रोग निदान चिकित्सा एवं कल्याण की दिशा में बढ़ोतरी करना है


इस पर भी राष्ट्रीय संगोष्ठी में देश के लगभग सभी विभिन्न राज्यों से जिसमें मध्य प्रदेश उत्तर प्रदेश आसाम तमिलनाडु चेन्नई बेंगलुरु छत्तीसगढ़ आदि से लगभग 300 से ज्यादा प्रतिभागी भाग ले रहे हैं जिनमें विभिन्न विषयों के अध्यापक अनुसंधान का विषय विशेषज्ञ तथा निजी चिकित्सक लखनऊ से आ रहे हैं इनके अलावा विदेशी वैज्ञानिकों से आ रहे हैं क्षेत्र के फॉर्मल कंपनियों के प्रमुखों की भी हिस्सेदारी हो रही है


 



इसके अंतर्गत शिक्षाविदों द्वारा का पाठक होगा तथा लगभग 200 शोध पत्रों का वाचन होगा इस संगोष्ठी में शोध पत्रों का वाचन 8 सत्रों के अंतर्गत किया जावेगा साथ ही प्रत्येक में अलग से वैज्ञानिकों द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में किए हुए शोध कार्यों को पोस्टर द्वारा भी प्रदर्शित किया जाएगा ताकि से संबंधित नई नई खोज की जानकारी प्राप्त हो सका संस्कारधानी जबलपुर में आयोजन है


संगोष्ठी के आयोजन से विषय विशेषज्ञ शोध एवं एक छत के नीचे व्यवस्थापन आदि से संबंधित समस्याएं हेतु सभी का समागम होगा संगोष्ठी के अंत में संपूर्ण बिंदुओं की समीक्षा की जाएगी इस नवीन प्रयास के अंतर्गत संगोष्ठी की
आयोजक सचिव डॉक्टर पी सी शुक्ला


Popular posts
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
धरमजयगढ़ विकासखण्ड अंतर्गत संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के लिए 16 मार्च तक आवेदन आमंत्रित
Image
‘आदर्श कार्य संस्कृति के लिए कर्मियों का आध्यात्मिक विकास जरूरी’ : श्री गौर गोपाल दास
Image