जामिया हमले की सीसीटीवी में दिल्ली पुलिस ने लाइब्रेरी में घुस के पढ़ रहे बच्चों को लाठियों से मारा, पुलिस का झूठ पकड़ाया, वीडियो वायरल
जामिया हमले की सीसीटीवी में दिल्ली पुलिस ने लाइब्रेरी में घुस के पढ़ रहे बच्चों को लाठियों से मारा,  पुलिस का झूठ पकड़ाया, वीडियो वायरल 

TOC NEWS @ www.tocnews.org


खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036 


झूठ बोलती दिल्ली पुलिस के झूठ बाहर आ रहे हैं



जामिया लाइब्रेरी के ओल्ड रीडिंग हाल MA/ M.PHIL सेक्शन में 15/12/2019 को हुए पुलिस लाठी चार्ज के सीसीटीवी फ़ुटेज सामने आए है



दिल्ली पुलिस पर जामिया की हिंसा का झूठ भारी पड़ता जा रहा है। पुलिस ने जितनी भी कहानी बनाई है वो उतनी ही सच है क्योंकि पुलिस के उन कहानियों के आगे काननू की धारा लगाने की शक्ति है। पहले कहा कि कोई गोली नहीं चली। फिर गोली चलाने की तस्वीर सामने आ गई।


अब जामिया की लाइब्रेरी के वीडियो सामने आए हैं। दुनिया के इतिहास में ऐसा दूसरा प्रसंग नहीं होगा जहां पुलिस किताब कापी के साथ बैठे छात्र और छात्राओं पर लाठी मार रही है।



इस वीडियो को आप इस सवाल के साथ देखें कि क्या आप ऐसी पुलिस चाहेंगे? या आप ऐसी पुलिस चाहेंगे जो क़ानून की जवाबदेही के साथ चले? जो नेता के हिसाब से काम करें या क़ानून के हिसाब से जनता के लिए?


प्रेम संबंधों को लेकर प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या, गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर लिया


पुलिस के इस चेहरे को छिपाने के लिए जामिया के छात्रों को जिहादी बोला गया। आतंकवादी और मुस्लिम लीगी कहा गया। ज़ोर ज़ोर से कहा गया ताकि सच छिप जाए। क्या इस वीडियो को देखने के बाद भी उन तमाम झूठ को दोहराया जा सकता है?


दिल्ली पुलिस के अधिकारियों, जवानों को भी पहचानना चाहिए कि वो कौन से दो चार कमजोर रीढ़ के अफ़सर हैं जो दशकों कमाई दिल्ली पुलिस की प्रतिष्ठा को मिट्टी में मिला रहे हैं ।


Popular posts
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के बेटे ने युवा कांग्रेस नेता को जान से मारने की धमकी
Image
हां, चना भाड़ फोड़ सकता है : भरतचन्द्र नायक 
Image
सरकार और किसानों के बीच नहीं बनी सहमति, 3 दिसंबर को फिर होगी बातचीत, जारी रहेगा प्रदर्शन
Image