आम आदमी प्रत्याशी रानी अग्रवाल द्वारा चुनाव आयोग के नियमों की उड़ाई धज्जियां विधानसभा चुनाव में दी गलत जानकारी , जिम्मेदार अधिकारी आख़िर मौन क्यों।।
आम आदमी प्रत्याशी रानी अग्रवाल द्वारा चुनाव आयोग के नियमों की उड़ाई धज्जियां विधानसभा चुनाव में दी गलत जानकारी, जिम्मेदार अधिकारी आख़िर मौन क्यों।।

TOC NEWS @ www.tocnews.org


जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 


सिंगरौली . आर0टी0आई0 से प्राप्त जानकारी अनुसार कुछ पिछले साल हुई विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के सिंगरौली प्रत्यासी व खुद को सिंगरौली की सत्ता की महारानी समझने वाली रानी अग्रवाल द्वारा चुनाव आयोग को ही खुद की गलत जानकारी दे चुनाव लड़ने की प्रक्रिया में दिए गए सपथ-पत्र में खुद की कई जानकारिया छुपाने का मामला प्रकाश में आया है | जिसे भारतीय कानून में एक बहुत बड़ा अपराध भी माना जाता रहा हैं | बावजूद इसके कार्यवाही की बात तो बहुत दूर की बात है जिला जिम्मेदार अधिकारियों की नींद तक नही टूटी |





आम आदमी प्रत्याशी रानी अग्रवाल द्वारा चुनाव आयोग के नियमों की उड़ाई धज्जियां विधानसभा चुनाव में दी गलत जानकारी



क्या है पूरा मामला -


पिछले साल सम्पन्य हुए विधानसभा चुनाव में कई राजनैतिक पार्टियों के प्रत्यासी सिंगरौली के तीनों विधानसभा में खुद की किस्मत को आजमाया गया था | जिसमे आम आदमी पार्टी के तरफ से प्रत्यासी रानी अग्रवाल के तरफ से भी बहुत दमखम दिखाया गया था, पर सफलता प्राप्त नही हुआ | वही बीजेपी के एक बरिष्ट राजनेता की बात करें तो वो रानी अग्रवाल के ऊपर एक गंभीर आरोप "बूंदी व झाड़ू बाट कर सिंगरौली की सत्ता हथियाने का गंभीर आरोप भी लगाया गया था"


 


इसे भी पढ़ें :- कोरोना वायरस से निपटने मध्यप्रदेश में स्कूलों, कॉलेजों में अवकाश घोषित, सिनेमा हॉल भी बन्द


जिसके बावजूद भी चुनाव आयोग के जिला जिम्मेदार अधिकारियों की नींद नही टूटी थी | वही एक आर0टी0आई0 से हुए खुलासा से यह जानकारी सामने आई है कि आम आदमी पार्टी के सिंगरौली जिला के विधानसभा प्रत्यासी रानी अग्रवाल खुद के सपथ-पत्र में दिए गए जानकारी में कई गलतियो कर खुद की कई जानकारी को छिपाने की कोशिश किया गया है | जिसमे खुद के आश्रितों की जानकारी झुपाना, खुद के आश्रितों की संपत्ति की जानकारी को झुपाना व अपनी व अपने आश्रितों के चल व अचल संपत्तियों की जानकारी को छुपाने का बखूवी कार्य किया गया है |





आम आदमी प्रत्याशी रानी अग्रवाल द्वारा चुनाव आयोग के नियमों की उड़ाई धज्जियां विधानसभा चुनाव में दी गलत जानकारी



इसे भी पढ़ें :- ज्योतिरादित्य सिंधिया के विरुद्ध लामबंद हुई प्रदेश की जांच एजेंसी ईओडब्ल्यू, जमीन घोटाले में प्रभात झा भी कर चुके है सिंधिया की घेराबंदी


कौन है संस्कार इंटरप्राइजेज -


आम आदमी पार्टी के सिंगरौली प्रत्यासी रानी अग्रवाल के दो बेटे स्वागत अग्रवाल व संस्कार अग्रवाल, जिसमे विस्वस्त्रसुत्रों से मिली जानकारी अनुसार रानी अग्रवाल का बड़ा बेटा मौजूदा समय मे सिंगरौली में ही CA की ट्रेनिंग कर रहा हैं | वही दूसरा बेटा एक बहुत बड़ा बिजनस का किया जाना बताया गया | संस्कार इंटर प्राइजेज रानी अग्रवाल के छोटे बेटे संस्कार अग्रवाल के नाम पर ही उनके छोटे देवर विकाश अग्रवाल द्वारा ग्राम डगा में संचालित किया जाना बताया जा रहा | जबकि जमीनी हकीकत में संस्कार इंटर प्राइजेज को जिस स्थान में संचालित किया जाना बताया गया उस स्थान या गावँ में इस नाम की कोई भी बिजनिस संस्थान ही नही |


इसे भी पढ़ें :- ग्रेसिम उद्योग द्वारा 100 करोड़ की सीएसआर राशि के नाम पर की गई धांधली के जांच का आदेश जारी


बावजूद इसके सन 2017 से 2018 तक ग्राम पंचायत बरगवां में पंचायत के द्वारा किये गए सम्पूर्ण कार्य मे लगभग 10619054 : 00 (1 करोड़ 6 लाख 19 हजार चौवन रुपये) रुपये के बिल में GST की चोरी या हेराफेरी करने का मामला भी कुछ दिनों पहले प्रकाश में आया था | वही जानकारों की मानना है तो क्षेत्र में संस्कार इंटर प्राइजेज द्वारा अगर मात्र एक ग्राम पंचायत में इतनी बड़ी रकम की बिजनिस को दिखाया गया हैं | तो निश्चित रूप से क्षेत्र से सटे कई ग्राम पंचायतों और क्षेत्र में यह कई करोड़ का बिजनिस का किया जाना सौभावित माना जाना लाजमी होगा|


इसे भी पढ़ें :- अनिल अंबानी के रिलायंस समूह और सुभाष चंद्रा पर यस बैंक का 21 हजार करोड़ का कर्ज


ऐसे में आम आदमी पार्टी के प्रत्यासी रानी अग्रवाल व उनके परिवार वालों द्वारा राज्य व केंद्र सरकारों से कर की चोरी का बहुत बड़ा मामला के साथ - साथ चुनाव आयोग को भी खुद की जानकारी को छुपाने के प्रयास किया गया | बावजूद इसके जिला के जिम्मेदार अधिकारियों के रहते इतना बड़ा भ्रस्टाचार कैसे फलफूल रहा हैं कौन बतायेगा |


आम आदमी पार्टी के सिंगरौली प्रत्यासी रानी अग्रवाल के कई और भ्रस्टाचार का खुलासा जारी रहेगा | बने रहिये ANI News India  से


Popular posts
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
तोता छाप गुडाखू मालिक मुरली अग्रवाल पर मुकदमा दर्ज, आरोपी मुरली अग्रवाल कार छोड़ फ़रार
Image
सीरियल, फिल्म, वेब सीरीज जो भी बनेगी भारतीय सेना पे उसके प्रसारण से पहले लेनी होगी अनुमति रक्षा मंत्रालय से, अब कोई भी हिमाकत नहीं करेगा सेना का अपमान करने का, बॉलीवुड के प्रोडूसर डायेरक्टर संभल जाओ
Image
प्यार में पागल प्रेमी प्रेमिका ने एक साथ फांसी पर झूल दी जान, कुछ दिनों के बाद होनी थी प्रेमिका की शादी
Image