कोविड 19 के योद्धाओं को रिलांयस जियो ने भेट किये सुरक्षा कवच
कोविड 19 के योद्धाओं को रिलांयस जियो ने भेट किये सुरक्षा कवच

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567



तीन बड़ी औद्योगिक इकाइयां होने के बाद भी नही मिल रही योद्धाओं को सुविधा, नींद में है उद्योग



नागदा जं.। औद्योगिक शहर नागदा के सरकारी अस्पताल मे स्वास्थ्य विभाग की टीम के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कमल सोलंकी को रिलायंस जियो के मोहित प्रधान ने 20 ( पी.पी.किट ) सुरक्षा कवच भेट किये ।


रिलांयस जियो के श्री प्रधान ने नरसिंह मेडिकल के संचालक शशांक सेठिया से 20 सुरक्षा कीट मँगवाने का अनुरोध किया जिस पर श्री सेठिया ने किट उप्लब्ध कराई । जिसे आज मंगलवार के शुभ दिन रिलांयस जियो ने डॉ. कमल सोलंकी को देते हुये हर्ष व्याप्त किया।


इसे भी पढ़ें :- संदिग्ध वस्तु कालोनी की गली में दिखने पर मची सनसनी, खौफजदा निवासियों ने बुलाई पुलिस, हुआ यह खुलासा देखें वीडियो


वही आज एक बात और निकल कर सामने आई की जब से देश, प्रदेश, जिला, नगर में लॉक डाऊन लगा है सभी समाज सेवकों एव जन प्रतिनिधियों ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यो को देखते हुये सुरक्षा किट उपलब्ध कराई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम रातो दिन नागदा और आस पास के क्षेत्रों मे कोरोना संक्रमित लोंगों की जांच में अपनी जान जोखिम में डाल अपने कर्तव्यों का पालन करने मे लगे हुये है। इसे देखते हुवे समाज सेवियों एव जन प्रतिनिधियों ने हर सम्भव मदद स्वास्थ्य विभाग की कर रहे है और आगे भी करते रहेंगे।



नागदा औद्योगिक शहर के नाम से देश ओर दुनिया मे विख्यात होने के बाद भी शहर मे संचालित तीन बड़े उद्योग ग्रेसिम स्टेबल फायबर, केमिकल डिविजन और जर्मनी की बहुराष्ट्रीय कम्पनी लेन्सेक्स इण्डिया प्रायवेट लिमिटेड होने के बाद भी उद्योगों को यहा के स्वास्थ्य विभाग को ले कर कोई चिंता नही दिखाई देती है। लॉक डाऊन से आज तक स्वास्थ्य विभाग को कोई भी सुविधा उप्लब्ध नही कराई गई है। केमिकल डिविजन ने हाइपो क्लोराइड के केवल दो ड्रम स्वास्थ्य विभाग को दीये है वह भी मंगाए जाने के बाद।


इसे भी पढ़ें :- 19 वर्षिय खुबससूरत युवती के गाल पर ब्लेड मारी, चेहरा बिगाड़ा, दिल दहला देने वाला हादसा 


क्या शहर मेँ उद्योगों की कोई जवाबदेही नही - ऊँची दुकान फीके पकवान - कहावत सही ही है


जब उद्योगो मे नागदा शहर के निवासरत श्रमिकों ओर मजदूरों से काम लिया जाता है । मजदूरों के स्वास्थ्य की चिंता यहां का सरकारी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है तो उनकी चिंता ये उद्योग क्यों नही कर रहे यह सोचने का विषय है।


Popular posts
पत्रकार संगठन AISNA, ALL INDIA SMALL NEWS PAPERS ASSOCIATION
Image
एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झरिया के विरुद्ध न्यायिक जांच की मांग, थाने में बैठाकर समझौता करवाने का आरोप, नहीं करने पर फर्जी मुकदमे में फ़साने की धमकी
Image
तेज आंधी तूफान के चलते सालों पुराना पेड़ एक निजी बस पर गिर गया, विस्तृत खबर के लिए देखिए वीडियो
Image
विवादित तीरंदाजी कोच रिचपाल सिंह सलारिया के आपराधिक प्रकरण में जबलपुर न्यायालय में पेशी, कई आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बाद भी शासकीय नौकरी पर काबिज
Image
राहुल गांधी ने मानहानि मामले में सजा के खिलाफ सूरत कोर्ट में अर्जी की दाखिल
Image