कोविड-19 की गाइड लाइन्स का पालन करते हुए विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं का कार्यक्रम तैयार करने के निर्देश










कोविड-19 की गाइड लाइन्स का पालन करते हुए विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं का कार्यक्रम तैयार करने के निर्देश

TOC NEWS @ www.tocnews.org


भोपाल // विनय जी. डेविड 9893221036 




राज्यपाल श्री टंडन ने परीक्षाओं के लिए गठित की 6 सदस्यीय समिति समिति 8 मई तक प्रस्तुत करेगी प्रतिवेदन   



भोपाल : शुक्रवार, मई 1, 2020, राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के कार्यक्रम निर्धारण और अकादमिक कैलेंडर के पुनर्नियोजित करने की आवश्यकता प्रतिपादित करते हुए कहा है कि कोविड-19 की गाइड लाइन्स का पालन करते हुए परीक्षाओं का कार्यक्रम तैयार करने के निर्देश दिये है।


श्री टंडन ने इसके लिए उच्च स्तर पर चिंतन-मनन कर कार्रवाई के लिए 6 सदस्यीय उच्च-स्तरीय समिति का गठन किया है। जीवाजी विश्वविद्यालय की कुलपति श्रीमती संगीता शुक्ला को समिति का संयोजक बनाया है। समिति में 5 कुलपति और उच्च शिक्षा विभाग द्वारा नामांकित एक प्रतिनिधि को शामिल किया गया है। समिति को आगामी 8 मई तक प्रतिवेदन प्रस्तुत करने को कहा गया है। 


राज्यपाल के सचिव श्री मनोहर दुबे ने बताया कि समिति द्वारा समस्त आयुर्विज्ञान, प्रोद्यौगिकी और कृषि विश्वविद्यालयों के साथ चर्चा कर परीक्षा कार्यक्रम एवं अकादमिक कैलेंडर तैयार किया जाएगा। समिति के सदस्यों में बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.जे.राव, अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीयूष अग्रवाल, राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल के कुलपति प्रो. सुनील कुमार और भोज मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति, प्रो. जयंत सोनवलकर को शामिल किया गया है।


Popular posts
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
धरमजयगढ़ विकासखण्ड अंतर्गत संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के लिए 16 मार्च तक आवेदन आमंत्रित
Image
‘आदर्श कार्य संस्कृति के लिए कर्मियों का आध्यात्मिक विकास जरूरी’ : श्री गौर गोपाल दास
Image