ताप्ती सरोवर जलापूर्ति मार्ग का कायाकल्प, युवाओं ने सतत सफाई कर बदल दी ताप्ती तट की तस्वीर
ताप्ती सरोवर जलापूर्ति मार्ग का कायाकल्प, युवाओं ने सतत सफाई कर बदल दी ताप्ती तट की तस्वीर

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल 7509020406 


मुलताई। ताप्ती तट सहित सरोवर को जलापूर्ति करने वाले मार्ग इन दिनों स्वच्छ नजर आ रहे हैं जो विगत एक सप्ताह से युवाओं द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर सफाई करने का नतीजा है।


एक तरफ जहां ताप्ती के तट से सतत सफाई कर गंदगी हटा दी गई है वहीं ताप्ती सरोवर को जलापूर्ति करने वाले नालों की भी सफाई करने से अब बारिश के पानी के साथ नालों में बिखरी गंदगी ताप्ती सरोवर के पानी में समाहित नही हो सकेगी। विगत पांच वर्षों से प्रतिवर्ष बारिश के पूर्व सफाई कर रहे मां ताप्ती ब्रिगेड के युवाओं ने बताया कि यह सिर्फ एक समिति का ही नही वरन सभी नागरिकों का कत्र्तव्य है कि वे पुण्यसलिला मां ताप्ती के सरोवर को स्वच्छ करने में अपना योगदान दें


ताकि बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों एवं श्रद्धालुओं को स्वच्छ ताप्ती तट एवं सरोवर देखकर सुखद अनुभूति हो सके। सौरभ कड़वे, पवन पाठेकर एवं ऋषभ पाटनकर सहित अन्य युवा सदस्यों ने बताया कि उनके साथ इस सफाई अभियान में बड़ी संख्या में नगर सहित ग्रामीण अंचलों से भी लोग जुड़े हैं जिससे सतत एक सप्ताह तक चले सफाई अभियान के दौरान ताप्ती तट सहित जलापूर्ति मार्ग की पूरी तरह से सफाई हो सकी। युवाओं ने बताया कि पूरे वर्ष ताप्ती सरोवर में पूजन सामग्री सहित अन्य सामग्री श्रद्धालुओं द्वारा डाली जाती है जिससे ग्रीष्मकाल में गंदगी के रूप में सरोवर के किनारे यह सामग्री नजर आती है


जिसे हटाना जरूरी होता है अन्यथा बारिश आने पर पुन: यह सामग्री ताप्ती में ही रह जाती है जिससे जल दूषित होते रहता है। विभिन्न सामग्रियों के कारण जहां पानी बदबू मारने लगता है वहीं मछलियों की भी मौत होती है। विगत वर्षों में इसी कारण ताप्ती सरोवर में बड़ी संख्या में मछलियों की मौत हुई है। मां ताप्ती ब्रिगेड के सदस्यों द्वारा इसलिए प्रतिवर्ष बारिश के पूर्व सफाई अभियान चलाया जाता है जिसमें नगर के गणमान्य नागरिकों सहित जन प्रतिनिधियों की भी उपस्थिति रहती है, इसके अलावा आमजन भी सफाई अभियान से जुड़ता है।


विशेष रूप से किशोर तथा युवा पीढ़ी को भी एैसे अभियानों से प्रेरणा मिलती है तथा वे पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक होते हैं। 


Popular posts
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद आसाराम ने मांगी जमानत, बोला- 80 साल का वृद्ध हूं, कोर्ट ने याचिका पर किया यह निर्णय
Image
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
प्रधानमंत्री जी की उम्दा सोच ने देश को बचा लिया, लेकिन जेहादियो ने कोहराम मचा दिया : नारायण त्रिपाठी
Image