नेशनल लोक अदालत 8 फरवरी को बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण के होंगे समझौते

नेशनल लोक अदालत 8 फरवरी को बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण के होंगे समझौते


TOC NEWS @ www.tocnews.org


खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036


भोपाल | म.प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्य क्षेत्र के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों में 08 फरवरी (शनिवार) को लगायी जाने वाली नेशनल लोक अदालत में बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण को समझौते के माध्यम से निराकृत किया जाएगा।


कंपनी द्वारा विद्युत उपभोक्ताओं एवं उपयोगकर्ताओं से अपील की गई है कि वे अप्रिय कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए अदालत में समझौता करने के लिए संबंधित बिजली कार्यालय से संपर्क करें।


इसे भी पढ़ें :- एस्सार पावर प्लांट के भू-विस्थापितों को कंपनी के द्वारा काम से बाहर निकालने पर गेट पर दिया धरना


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135, 138 तथा 126 के तहत दर्ज बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरणों में लोक अदालत में समझौता शर्तां का मसौदा जारी कर दिया गया है। कंपनी द्वारा निर्णय लिया गया है कि धारा 135 व 138 के न्यायालयों में लंबित प्रकरण एवं जो प्रकरण न्यायालय में दर्ज नहीं हो सके हैं तथा धारा 126 के अंतर्गत बनाये गये.


इसे भी पढ़ें :- विवादित भूमि पर बने विशाल मेगा मार्ट : जल संसाधन और ग्राम निवेश को एसडीएम न्यायालय ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब


ऐसे प्रकरण जिनमें उपभोक्ताओं द्वारा अपीलीय कमेटी के समक्ष आपत्ति/अपील प्रस्तुत नहीं की गई है, की प्रीलिटिगेशन के माध्यम से निराकरण के लिये निम्नदाब श्रेणी के समस्त घरेलू, समस्त कृषि, 5 किलोवॉट तक के गैर घरेलू एवं 10 अश्व शक्ति भार तक के औद्योगिक उपभोक्ताओं को छूट दी जाएगी।


इसे भी पढ़ें :- “आइसना” जिला इकाई उज्जैन में श्री विष्णु शर्मा जिला संयोजक नियुक्त


प्रिलिटिगेशन स्तर पर - कंपनी द्वारा आंकलित सिविल दायित्व की राशि पर 40 प्रतिशत एवं आंकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् छः माही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।


इसे भी पढ़ें :- वीडियो जामिया फ़ायरिंग : BJP नेता ने कहा ‘गोली मारो सालों को’ जामिया में प्रदर्शन के दौरान एक शख्स ने मारी गोली


न्यायालयीन लंबित प्रकरणों में - कंपनी द्वारा आंकलित सिविल दायित्व की राशि पर 25 प्रतिशत एवं आंकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि से 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् प्रत्येक छःमाही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत छूट दी जाएगी।


Popular posts
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
महिला के सामने हस्तमैथुन करते हुए थाना प्रभारी का वीडियो वायरल, Video अकेले में देखें, दारोगा निलंबित मुकदमा दर्ज
Image
पर्यटन की संभावना के बावजूद रख-रखाव के अभाव में उपेक्षित शेरगढ़ का किला
Image
रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के बेटे ने युवा कांग्रेस नेता को जान से मारने की धमकी
Image