फांसी से पहले अंतिम इच्छा पर जेल प्रशासन का बड़ा बयान, जानकर आप भी होंगे हैरान


साल 2012 में निर्भया रेप और हत्या कांड में दोषियों को 7 साल बाद फांसी की सजा सुनाई गई है। जानकारी के लिए बता दें इस घिनौने अपराध के 4 दोषियों को 1 फरवरी को फांसी होना तय है। जिसके लिए हाल ही में चारों अपराधियों की अंतिम इच्छा जानने के लिए जेल प्रशासन की तरफ से उन्हें नोटिस दिया गया।


अपराधियों को अंतिम इच्छा का नोटिस जारी करने के बाद जेल प्रशासन की तरफ से मीडिया के सामने बड़ा बयान आया है। जेल प्रशासन ने अपने बयान में कहा है कि अपराधियों की हर इच्छा को पूरी नहीं किया जा सकता। नोटिस देने से पहले उन्हें यह बता दिया गया है कि यदि वे किसी से मिलना चाहते हैं या अपनी किसी भी चीज को किसी अन्य व्यक्ति को देना चाहते हैं, तो हमें लिखित में सूचना दे दें।


प्रशासन ने यह बात पूरी तरह से स्पष्ट कर दी है कि उनकी किसी भी बड़बोली इच्छा को पूरा नहीं किया जाएगा। क्योंकि लिखित में अंतिम इच्छा मिलने के बाद जेल प्रशासन के आला अधिकारी उस पर यह विचार करेंगे कि यह पूरी होने योग्य है या नहीं।


Popular posts
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image
नीलामी में घोटाला : पति रंजीत कर्नाल की शाजिस पर 41 लाख की जमीन 12 लाख में नीलाम करने वाली तहसीलदार दीपाली निलंबित
Image
पर्यटन की संभावना के बावजूद रख-रखाव के अभाव में उपेक्षित शेरगढ़ का किला
Image
अब दारू की होगी होम डिलीवरी लॉकडाउन के दौरान, आबकारी विभाग ने बनायी व्यवस्था, इस वेबसाईट अथवा एप से कर सकेंगे बुकिंग
Image
पडोसी युवक पर चाकू से हमला, मौके पर पहुंची राइनो ने आहत को पहुंचाया अस्पताल, आरोपी को थाने
Image