फांसी से पहले अंतिम इच्छा पर जेल प्रशासन का बड़ा बयान, जानकर आप भी होंगे हैरान


साल 2012 में निर्भया रेप और हत्या कांड में दोषियों को 7 साल बाद फांसी की सजा सुनाई गई है। जानकारी के लिए बता दें इस घिनौने अपराध के 4 दोषियों को 1 फरवरी को फांसी होना तय है। जिसके लिए हाल ही में चारों अपराधियों की अंतिम इच्छा जानने के लिए जेल प्रशासन की तरफ से उन्हें नोटिस दिया गया।


अपराधियों को अंतिम इच्छा का नोटिस जारी करने के बाद जेल प्रशासन की तरफ से मीडिया के सामने बड़ा बयान आया है। जेल प्रशासन ने अपने बयान में कहा है कि अपराधियों की हर इच्छा को पूरी नहीं किया जा सकता। नोटिस देने से पहले उन्हें यह बता दिया गया है कि यदि वे किसी से मिलना चाहते हैं या अपनी किसी भी चीज को किसी अन्य व्यक्ति को देना चाहते हैं, तो हमें लिखित में सूचना दे दें।


प्रशासन ने यह बात पूरी तरह से स्पष्ट कर दी है कि उनकी किसी भी बड़बोली इच्छा को पूरा नहीं किया जाएगा। क्योंकि लिखित में अंतिम इच्छा मिलने के बाद जेल प्रशासन के आला अधिकारी उस पर यह विचार करेंगे कि यह पूरी होने योग्य है या नहीं।


Popular posts
एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झरिया के विरुद्ध न्यायिक जांच की मांग, थाने में बैठाकर समझौता करवाने का आरोप, नहीं करने पर फर्जी मुकदमे में फ़साने की धमकी
Image
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
उमेश पाल अपहरण मामले में माफिया अतीक अहमद को उम्रकैद की सजा, जाने क्या है पूरा सच
Image
धोखाधड़ी 420 के मामले में मेथोडिस चर्च संस्थान के घोटालेबाज विशप एम. ए. डेनियल, मनीष एस गिडियन, एरिक पी. नाथ की अग्रिम जमानत की सुनवाई जबलपुर कोर्ट में
Image
मेथोडिस चर्च संस्थान के घोटालेबाज विशप एम. ए. डेनियल, मनीष एस गिडियन, एरिक पी. नाथ की अग्रिम जमानत की सुनवाई 4अप्रैल २०२३ को जबलपुर कोर्ट में हुई माननीय न्यायालय ने इन चिटरबाजों की जमानत निरस्त, जल्द जायेंगे गिरफ्तार होकर जेल
Image