फांसी से पहले अंतिम इच्छा पर जेल प्रशासन का बड़ा बयान, जानकर आप भी होंगे हैरान


साल 2012 में निर्भया रेप और हत्या कांड में दोषियों को 7 साल बाद फांसी की सजा सुनाई गई है। जानकारी के लिए बता दें इस घिनौने अपराध के 4 दोषियों को 1 फरवरी को फांसी होना तय है। जिसके लिए हाल ही में चारों अपराधियों की अंतिम इच्छा जानने के लिए जेल प्रशासन की तरफ से उन्हें नोटिस दिया गया।


अपराधियों को अंतिम इच्छा का नोटिस जारी करने के बाद जेल प्रशासन की तरफ से मीडिया के सामने बड़ा बयान आया है। जेल प्रशासन ने अपने बयान में कहा है कि अपराधियों की हर इच्छा को पूरी नहीं किया जा सकता। नोटिस देने से पहले उन्हें यह बता दिया गया है कि यदि वे किसी से मिलना चाहते हैं या अपनी किसी भी चीज को किसी अन्य व्यक्ति को देना चाहते हैं, तो हमें लिखित में सूचना दे दें।


प्रशासन ने यह बात पूरी तरह से स्पष्ट कर दी है कि उनकी किसी भी बड़बोली इच्छा को पूरा नहीं किया जाएगा। क्योंकि लिखित में अंतिम इच्छा मिलने के बाद जेल प्रशासन के आला अधिकारी उस पर यह विचार करेंगे कि यह पूरी होने योग्य है या नहीं।


Popular posts
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
महिला के सामने हस्तमैथुन करते हुए थाना प्रभारी का वीडियो वायरल, Video अकेले में देखें, दारोगा निलंबित मुकदमा दर्ज
Image
पर्यटन की संभावना के बावजूद रख-रखाव के अभाव में उपेक्षित शेरगढ़ का किला
Image
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के बेटे ने युवा कांग्रेस नेता को जान से मारने की धमकी
Image