फर्जी बिल लगाकर वित्तीय अनियमितता के कारण सरपंच, सचिव, सहसचिव को कारण बताओ
फर्जी बिल लगाकर वित्तीय अनियमितता के कारण सरपंच, सचिव, सहसचिव को कारण बताओ

 


TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567


उज्जैन. जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीलेश पारिख ने ग्राम पंचायतों में अलग-अलग मामलों में अनियमितता पाये जाने के कारण सरपंच, सचिव, सहसचिव को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी कर सम्बन्धितों को निर्देश दिये हैं कि वे 14 जनवरी को समक्ष में उपस्थित होकर अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें। अनुपस्थिति या जवाब प्रस्तुत न करने की दशा में मप्र पंचायतराज के तहत अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी, जिसका दायित्व सम्बन्धित का होगा।     


जनपद पंचायत तराना की ग्राम पंचायत नलेश्री निवासी श्री रूस्तम पटेल वल्द इब्राहिम पटेल ने सरपंच श्री अफसर पटेल, सचिव श्री दिलीप नवरंग, सहायक सचिव श्री जितेश मालवीय की शिकायत की कि उनके द्वारा पंच-परमेश्वर मद में फर्जी बिल लगाकर वित्तीय अनियमितता की है। वहीं वर्ष 2012 से 2016 के मध्य मृतकों के नाम से मजदूरी की राशि आहरण की है


इसे भी पढ़ें :- सांसद फिरोजिया एवं प्रशासक द्वारा किया निरीक्षण, श्री महाकालेश्‍वर मंदिर के सामने अनाधिकृत रूप से नहीं लग सकेंगी दुकानें 


वर्ष 2012 से 2016 के मध्य मृतकों के नाम से मजदूरी की राशि आहरण की, जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती रेखाबाई और सहायिका श्रीमती भागवंताबाई के नाम से मनरेगा में मजदूरी की राशि का भुगतान किये जाने की शिकायत की है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने सरपंच, सचिव एवं सहायक सचिव को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी कर 14 जनवरी तक जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।     


इसी तरह जनपद पंचायत खाचरौद के तत्कालीन सचिव ग्राम पंचायत मड़ावदा के श्री कालूराम परमार वर्तमान सचिव ग्राम पंचायत चन्दवासला ने ग्राम पंचायत मड़ावदा द्वारा क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर ग्राम मड़ावदा की भूमि सर्वे नम्बर 1249 रकबा 8.95 हेक्टेयर मद आबादी क्षेत्र में दुकान हेतु 75 पट्टे अवैध रूप से दिये गये हैं।


इसे भी पढ़ें :- चेक-पोस्टों पर 500-500 अवैध गाड़ियों से वसूली की शिकायतें, परिवहन माफिया के विरूद्ध होगी कड़ी कार्यवाही : मंत्री राजपूत


न्यायालय अपर तहसीलदार खाचरौद द्वारा जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था, जिसमें उक्त स्थिति का उल्लेख होने पर अनुविभागीय अधिकारी खाचरौद द्वारा प्रकरण दर्ज कर ग्राम पंचायत मड़ावदा के सरपंच, सचिव के विरूद्ध कार्यवाही हेतु प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था। इस सम्बन्ध में जिला पंचायत सीईओ ने दोनों तत्कालीन एवं वर्तमान सचिवों से 14 जनवरी तक स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।   


इसे भी पढ़ें :- क्राइम सस्पेंस के तीसरे अंक में : आखिर वो कौन – कौन संभावित लोग जो एक विकलांग व माने गए फर्जी पत्रकार को उतारना चाहते हैं मौत के घाट


इसी तरह जिला पंचायत सीईओ ने जनपद पंचायत खाचरौद की ग्राम पंचायत मड़ावदा के सरपंच श्री कैलाशचन्द्र पिता नाथूलाल कटारिया ने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर मड़ावदा की भूमि सर्वे नम्बर 1249 रकबा 8.95 हेक्टेयर मद आबादी क्षेत्र में दुकान हेतु 75 पट्टे अवैध रूप से दिये गये। अपर तहसीलदार तथा एसडीएम खाचरौद द्वारा सरपंच एवं सचिव के विरूद्ध कार्यवाही के लिये प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के कारण सरपंच को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी कर जवाब 14 जनवरी तक प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।