सेनेटाईजर केबिन ग्रेसिम उद्योग का सराहनीय कदम, किन्तु सवाल भी किये खड़े?

nagda Sanitizer Cabin Grasim Industries ANI NEWS INDIA



सेनेटाईजर केबिन ग्रेसिम उद्योग का सराहनीय कदम, किन्तु सवाल भी किये खड़े?




 




TOC NEWS @ www.tocnews.org




ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567





उज्जैन जिले मे बिरला ग्राम थाना पहला थाना जिसके पास है यह सुविधा





नागदा। कोविड -19 की वजह से लॉकडाउन के कारण दिनरात 24 घंटे अपनी जिम्मेदारी निभा रहे पुलिस कर्मियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ग्रेसिम उद्योग के इंजीनियरों द्वारा सैनिटाइज केबिन का निर्माण कर बहुत ही सराहनीय कार्य को अंजाम दे डाला है। केबिन को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसके भीतर प्रवेश करते ही पुलिस कर्मी को केवल एक बटन भर दबाना होगा । 




ऐसा करते ही केबिन में लगाए गए शॉवर से सेनेटाईजर युक्त केमिकल का छिड़काव शुरु हो जाएगा। इसका बड़ा फायदा यह है कि पुलिसकर्मी के कपड़े तक महज दो मिनट में कोरोना वायरस से मुक्त हो जाएंगे। उद्योेग प्रबंधन ने लॉकडाऊन अवधि में प्लांट के भीतर आने वाले कर्मचारियों के लिए यह सुविधा शुरु की। जो बिरला ग्राम थाने के पुलिस कर्मियो को भेट स्वरुप दी है। जो सराहनीय कदम है।




एक सवाल यह भी उठता है की क्या उद्योग के क्षेत्र मे नागदा मण्डी थाना नही आता है क्या वहा के पुलिस जवानो की चिंता उद्योग को नही है या उद्योग के इंजीनियरो को केवल बिरला ग्राम थाने के बल से ही प्रेम है नागदा के उन पुलिस जवानों के लिये भी इस तरह की सुविधा सी एस आर फण्ड से दी जा सकती है तो क्यो नही दी गई ।




सवाल तो बनता है ? क्या नागदा पुलिस कोरोना के संक्रमण से जंग नही लड़ रही है ।




यह दोहरा माप दण्ड उद्योग द्वारा क्यो ?



Popular posts
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image
धरमजयगढ़ विकासखण्ड अंतर्गत संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में कार्यकर्ता एवं सहायिका पद के लिए 16 मार्च तक आवेदन आमंत्रित
Image
अवैध शराब माफिया को किया नागदा पुलिस ने गिरफ्तार नागदा मंडी थाना कि कारवाही
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image