कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया
कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया

 


TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ पांढुर्ना, जिला छिंदवाड़ा // पंकज मदान  9595917473 


पांढुर्णा ( छिंदवाड़ा ) भारतीय कपास निगम द्वारा गत 7 मई से स्थानीय कृषि उपज मंडी में कपास की खरीदी प्रारंभ की है जिससे किसानों को कपास के अच्छे भाव मिल रहे हैं. वही कुछ व्यापारी महाराष्ट्र से माल खरीद कर ला रहे हैं और स्थानीय किसानों के नाम से कपास भारतीय कपास निगम को बेची जा रही है.


वीडियो ख़बर इनका कहना है :- भारतीय कपास निगम के मैनेजर मीणा



.


कुछ मामले में तो यह भी सामने आया कि भारतीय कपास निगम को जिन व्यक्तियों ने कपास बेची है, उनके पास नाम मात्र की भी खेती नहीं है. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा की कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया जा रहा है जिसमें भारतीय कपास निगम के कर्मचारी तो बाहर से आए हुए हैं उन्हें नही मालूम कि किसान कौन है और व्यापारी कौन है. यदि निष्पक्षता से जांच कराई जाए तो पूरा मामला सामने आ सकता है.


Popular posts
पत्रकार संगठन AISNA, ALL INDIA SMALL NEWS PAPERS ASSOCIATION
Image
एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झरिया के विरुद्ध न्यायिक जांच की मांग, थाने में बैठाकर समझौता करवाने का आरोप, नहीं करने पर फर्जी मुकदमे में फ़साने की धमकी
Image
तेज आंधी तूफान के चलते सालों पुराना पेड़ एक निजी बस पर गिर गया, विस्तृत खबर के लिए देखिए वीडियो
Image
विवादित तीरंदाजी कोच रिचपाल सिंह सलारिया के आपराधिक प्रकरण में जबलपुर न्यायालय में पेशी, कई आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बाद भी शासकीय नौकरी पर काबिज
Image
राहुल गांधी ने मानहानि मामले में सजा के खिलाफ सूरत कोर्ट में अर्जी की दाखिल
Image