कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया
कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया

 


TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ पांढुर्ना, जिला छिंदवाड़ा // पंकज मदान  9595917473 


पांढुर्णा ( छिंदवाड़ा ) भारतीय कपास निगम द्वारा गत 7 मई से स्थानीय कृषि उपज मंडी में कपास की खरीदी प्रारंभ की है जिससे किसानों को कपास के अच्छे भाव मिल रहे हैं. वही कुछ व्यापारी महाराष्ट्र से माल खरीद कर ला रहे हैं और स्थानीय किसानों के नाम से कपास भारतीय कपास निगम को बेची जा रही है.


वीडियो ख़बर इनका कहना है :- भारतीय कपास निगम के मैनेजर मीणा



.


कुछ मामले में तो यह भी सामने आया कि भारतीय कपास निगम को जिन व्यक्तियों ने कपास बेची है, उनके पास नाम मात्र की भी खेती नहीं है. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा की कृषि उपज मंडी अधिकारियों की मिलीभगत से भारतीय कपास निगम को व्यापारियों का माल फर्जी किसान बनकर बिकवाया जा रहा है जिसमें भारतीय कपास निगम के कर्मचारी तो बाहर से आए हुए हैं उन्हें नही मालूम कि किसान कौन है और व्यापारी कौन है. यदि निष्पक्षता से जांच कराई जाए तो पूरा मामला सामने आ सकता है.


Popular posts
हत्या के प्रयास में 07 माह से फरार कुख्यात बदमाश शादाब जहरीला का साथी राज प्रजापति को तलैया पुलिस ने किया गिरफ्तार
Image
साईं खेड़ा नगर में जनधन खाता धारको की लगी लंबी कतार, जनता ने इस सराहनीय पहल का स्वागत किया 
Image
रिश्वतखोर सहायक यंत्री मोहन सिंह 40 हजार रिश्‍वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त के सिकंजे में फंसा
Image
नवाचार के माध्यम से बच्चों के बौद्धिक क्षमता को बढ़ाएं : डॉ. आलोक शुक्ला
Image
आरोग्य सेवा शोध संस्थान द्वारा जड़ी बूटियों द्वारा तैयार "आयुर्वेदिक सैनिटाइजर" का नि:शुल्क वितरण कार्यक्रम संपन्न
Image