मातृ दिवस पर विशेष : माँ शब्द सबसे महान है हर दीन ही माँ का दीन है
मातृ दिवस पर विशेष : माँ शब्द सबसे महान है हर दीन ही माँ का दीन है

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567


माँ वह है जो सृजन करती है। यहीं कारण है की संसार में हर जीवन दायनी वस्तु को माँ की संज्ञा दी गई है। माँ के सानिध्य में हमें कभी एहसास नहीं होता की हम कभी भी अकेले है। वसुंधरा पर ईश्वर का प्रत्यक्ष स्वरूप है माँ। इस तारतम्य में विश्व की समस्त मातृशक्ति का वंदन करने के लिए प्रस्तुत है डॉ. रीना रवि मालपानी द्वारा स्वरचित कविता:


"मेरी माँ"


नाम के अनुरूप हैं मेरी माँ,


सहज सरल स्वरुप है मेरी माँ।


खुशियो का अनुपम सानिध्य हे मेरी माँ,


ईश्वर का दिया कीमती वरदान है मेरी माँ।


बिना छल कपट के स्नेह जताती मेरी माँ,


इस अविश्वासी दुनिया में विश्वास बढ़ाती माँ।


सहनशीलता की सुंदर प्रतीक है मेरी माँ,


अपनत्व से सरोबोर हे मेरी माँ।


संसार के लुप्त होते ज्ञान को सिखाती मेरी माँ,


मुझे सहजता से अपना बनाती मेरी माँ।


जीवन की सच्ची पथ प्रदर्शक है मेरी माँ,


प्रेम के अनमोल बाग की बागवान हे मेरी माँ।


काँटो भरी दुनिया में फूलो सी कोमल हे मेरी माँ,


सरल बनो ह्रदय से यही सिखाती मेरी माँ।


माँ के इस स्वरुप को मेरे भाग्य ने दिलाया,


ममत्व की पराकाष्ठा ने जीवन को पूर्ण बनाया।


Popular posts
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
हां, चना भाड़ फोड़ सकता है : भरतचन्द्र नायक 
Image
सरकार और किसानों के बीच नहीं बनी सहमति, 3 दिसंबर को फिर होगी बातचीत, जारी रहेगा प्रदर्शन
Image
नीलामी में घोटाला : पति रंजीत कर्नाल की शाजिस पर 41 लाख की जमीन 12 लाख में नीलाम करने वाली तहसीलदार दीपाली निलंबित
Image