अधिवक्ताओं को पचास हजार रुपए का लोन देने की मांग, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
अधिवक्ताओं को पचास हजार रुपए का लोन देने की मांग, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन 

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल 


मुलताई। अधिवक्ता संघ द्वारा एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर अधिवक्ताओं को पचास हजार रुपए तक का लोन देने की मांग की हैै। अधिवक्ताओं का कहना है कि तीन महीने से काम पूरी तरह से बंद पड़ा हुआ है, ऐसे में अधिवक्ताओं के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है, इसलिए अधिवक्ताओं को पचास हजार रुपए तक का लोन देकर राहत प्रदान की जानी चाहिए।


लॉक-डाउन खुलने के बाद न्यायलयों में पूर्व की तरह कार्य नहीं हो रहे है, काम कब सुचारू रूप से प्रारंभ होगा इसकी कोई घोषणा नहीं हुई है। जिसको लेकर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष गिरधर यादव ने मप्र शासन से मांग की है कि अधिवक्ताओं को पचास हजार रुपए का ऋण दिया जाए। जिसकी जमा अवधि 5 वर्ष हो, उसमें कोई ब्याज ना लिया जाए। अधिवक्ताओं की सुरक्षा की मांग करते हुए यादव अधिवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा हर वर्ग का ध्यान रखा जा रहा है, लेकिन अधिवक्ताओं पर सबसे ज्यादा आर्थिक संकट खड़ा हो चुका है।


अधिवक्ताओं के लिए राज्य सरकार ने आगे आना चाहिए। यादव अधिवक्ता ने यह भी बताया कि मुलताई में टिकिट दुगने दाम पर बेची जा रही हैं, ऐसे लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए। उक्त मांगों को लेकर अधिवक्ताओं द्वारा एसडीएम सीएल चनाप को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन सौंपते समय अधिवक्ता गिरधर यादव ,सीएस चंदेल , सुरेश घोरेसे,सुरेश माकोड़े, टी.के.चौधरी, परसराम कोडले, प्रवीण माने, नविन बिहारिया, विजय रघुवंशी, पंकज यादव एवं अन्य अधिवक्ता उपस्थित थे।


Popular posts
एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झरिया के विरुद्ध न्यायिक जांच की मांग, थाने में बैठाकर समझौता करवाने का आरोप, नहीं करने पर फर्जी मुकदमे में फ़साने की धमकी
Image
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
महिला के सामने हस्तमैथुन करते हुए थाना प्रभारी का वीडियो वायरल, Video अकेले में देखें, दारोगा निलंबित मुकदमा दर्ज
Image
पांढुरना ( छिंदवाड़ा) ग्राम तिगांव के लक्ष्मी ढाबे के नजदीक एक ट्रक और मोटरसाइकिल की भिड़ंत, नागपुर रेफर
Image
आदित्य बिड़ला की महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) बरगवां (सिंगरौली) द्वारा मौखिक आश्वासन के बाद आंदोलन कराया गया समाप्त या गंभीर षणयंत्र
Image