शक्कर नदी पुल पर जानलेवा गड्ढा कर रहा हादसे का इंतजार, प्रशासन कुंभकर्ण की नींद में
शक्कर नदी पुल पर जानलेवा गड्ढा कर रहा हादसे का इंतजार, प्रशासन कुंभकर्ण की नींद में

 


TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ गाडरवाराजिला नरसिंहपुर // दीपक अग्रवाल : 9039 5134 65 


गाडरवारा, यह नजारा शक्कर नदी पुल का है जहां इस रोड से लगे गहराई नुमा बहुत बड़ा गड्ढा बन गया है जिसको प्रशासन द्वारा अनदेखा किया जा रहा है , जबकि सोशल मीडिया सहित मीडिया के द्वारा इस गड्ढे नुमा की तस्वीर और खबर सोशल मीडिया और फेसबुक पर भी आमजन ने शेयर की है.


अगर समय रहते प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं देता तो इस गड्ढे से कोई भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है और  इस जानलेवा गड्ढे के हादसे का कौन रहेगा जिम्मेदार जो एक चिंतनीय विषय है क्योंकि इस गड्ढे से लगी रोड पर भारी भरकम वाहन प्रतिदिन निकलते हैं जिससे पैदल चलने वाले राहगीर अपने आप को असुरक्षित महसूस करते नजर आ रहे हैं। 


वीडियो ख़बर :- इस जानलेवा गड्ढे के हादसे का कौन रहेगा जिम्मेदार


 



.


जबकि शक्कर नदी पुल के ऊपर से जिले के तमाम बड़े बड़े अधिकारियों का क्षेत्र में भ्रमण का दौरा चल रहा है और साथ ही साथ जिले के जनप्रतिनिधि भी इस रोड से रोजाना दर्जनों बार निकलने का दौरा भी करते हैं। जबलपुर संभाग के आई एम पी डब्लू आयुक्त कमिश्नर जिले के कलेक्टर एसपी गाडरवारा एसडीएम महोजदय पीडब्ल्यूडी के अनुविभागीय अधिकारी  मुख्य नगर पालिका नगरपालिका परिषद और गाडरवारा नरसिंहपुर के तमाम जनप्रतिनिधि इस गहरा नुमा गड्ढे पर ध्यान आकर्षित करते हुए उचित निर्णय लेने का कष्ट करे ।


Popular posts
दैनिक वांटेड टाइम्स के संपादक संदीप मानकर को खबर प्रकाशन के मामले के प्रकरण में भोपाल से गिरफ्तार कर हरियाणा पुलिस ले गई
Image
भू माफिया अशोक गोयल 75 करोड़ की जमीन की धोखाधड़ी के आरोपी को जेल भेजा, अंचित गोयल फरार
Image
मेथोडिस चर्च संस्थान के घोटालेबाज विशप एम. ए. डेनियल, मनीष एस गिडियन, एरिक पी. नाथ की अग्रिम जमानत की सुनवाई 4अप्रैल २०२३ को जबलपुर कोर्ट में हुई माननीय न्यायालय ने इन चिटरबाजों की जमानत निरस्त, जल्द जायेंगे गिरफ्तार होकर जेल
Image
फर्जी पुलिस बन नौकरीपेशा महिलाओं से शादी का झांसा देने वाला आरोपी गिरफतार
Image
विवादित तीरंदाजी कोच रिचपाल सिंह सलारिया के आपराधिक प्रकरण में जबलपुर न्यायालय में पेशी, कई आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बाद भी शासकीय नौकरी पर काबिज
Image