अनमोल क्लिनिक के संचालक डा. प्रवीण शुक्ला पर गलत उपचार का आरोप, शिकायत थाना पहुंचा

अनमोल क्लिनिक के संचालक डा. प्रवीण शुक्ला पर गलत उपचार का आरोप, शिकायत थाना पहुंचा

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल 


मुलताई। नगर में पारेगांव रोड पर स्थित अनमोल क्लिनिक के संचालक डा.प्रवीण शुक्ला पर एक महिला द्वारा गलत उपचार का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की शिकायत थाना मुलताई में की गई है।


शिकायतकर्ता गायत्री उर्फ नान्ही पति हरिसिंह पंवार ने शिकायत में बताया कि उसके पैरों में दर्द होने से विगत 6 जून को वह प्रवीण शुक्ला के निजी अस्पताल में उपचार कराने गई थी जहां उसके चेकअप के उपरांत क्लिनिक के ही मेडीकल स्टोर्स से 749 रूपए की दवाई खरीदी गई थी। जहां अस्पताल की नर्स लल्ली द्वारा उसकी कमर पर इंजेक्शन लगाया गया था।


बाकि एक दिन के अंतराल में दो-दो इंजेक्शन दो सप्ताह तक लगाए तथा तीसरे सप्ताह उसके कमर में इंजेक्शन का संक्रमण होने से मवाद बनने लगा। जब उसने उक्त समस्या डा. प्रवीण शुक्ला को बताई तो उन्होने कहा कि बैतूल में इंन्फेक्शन का उपचार कराओ सारा खर्च वह दे देगें।


इस पर पीडि़ता गायत्री द्वारा बैतूल के राठी हास्पीटल में उपचार कराया गया जहां घाव के आपरेशन सहित अन्य खर्च मिलाकर कुल 50 हजार रूपए का खर्चा आया। जब पीडि़ता द्वारा मुलताई आकर डा.शुक्ला से खर्च की मांग की गई तो उन्होने राशि देने से साफ इंकार कर दिया।


पीडि़ता गायत्री के अनुसार वह निर्धन महिला है तथा डा.शुक्ला के उपचार की राशि देने के आश्वासन पर ही उसने बैतूल में आपरेशन कराया लेकिन अब डाक्टर मुकर रहा है। पूरे मामले में कार्यवाही की मांग की गई है। 
इनका कहना 
महिला एक बार उपचार के लिए आई थी जिसके बाद जब वह दोबारा आई तो संक्रमित घाव देखकर उसे बैतूल में उपचार कराने की सलाह दी गई थी। डा. प्रवीण शुक्ला अनमोल हास्पीटल मुलताई।


Popular posts
फर्जी पुलिस बन नौकरीपेशा महिलाओं से शादी का झांसा देने वाला आरोपी गिरफतार
Image
यहां कम उम्र की लड़कियों को जबरन बनाया जाता है मां
Image
विवादित तीरंदाजी कोच रिचपाल सिंह सलारिया के आपराधिक प्रकरण में जबलपुर न्यायालय में पेशी, कई आपराधिक प्रकरण दर्ज होने के बाद भी शासकीय नौकरी पर काबिज
Image
राहुल गांधी ने मानहानि मामले में सजा के खिलाफ सूरत कोर्ट में अर्जी की दाखिल
Image
क्या राहुल गांधी से डर गई है भाजपा? : मानहानि के मामले में अधिकतम सजा, तुरंत संसद से बर्खास्तगी, आ रही साजिशों की बू
Image