बुखार को टायफायड बताकर गलत उपचार करने का आरोप, एसडीएम को ज्ञापन सौंप की कार्रवाई की मांग, डाक्टर शुक्ला की जांच के आदेश जारी
बुखार को टायफायड बताकर गलत उपचार करने का आरोप, एसडीएम को ज्ञापन सौंप की कार्रवाई की मांग, डाक्टर शुक्ला की जांच के आदेश जारी

TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल 



महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव की शिकायत पर डाक्टर शुक्ला की जांच के आदेश जारी



मुलताई। नगर के अनमोल प्राइयवेट अस्पताल में गलत इंजेक्शन लगाने से महिला की कमर में इंफेक्शन फैलने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि मंगलवार को एक और महिला ने डाक्टर प्रवीण शुक्ला पर गलत उपचार कर उसकी जान से खेलने का आरोप लगाया है।


महिला के पति ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि डाक्टर द्वारा उसकी पत्नी को टायफायड बताकर उपचार किया जा रहा था, लेकिन बैतूल में जांच के बाद पता कि उसको टायफायड नहीं है, गलत उपचार के कारण उसकी जान पर बन आई थी। वहीं महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव राजरानी परिहार ने भी इस मामले में एसडीएम को ज्ञापन सौंप कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद एसडीएम ने मुलताई बीएमओ को इस पूरे मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं और जांच के रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है।


नगर के पारेगांव रोड पर स्थित अनमोल प्रायवेट अस्पताल पर रोजाना नए आरोप लग रहे हैं। मुलताई निवासी उमेश प्रजापति ने मंगलवार को एसडीएम सीएच चनाप को ज्ञापन सौंपकर बताया कि उसकी पत्नी लक्ष्मी प्रजापति का स्वास्थ्य 15 अगस्त को खराब हो गया था। जिसके चलते उसे डाक्टर प्रवीण शुक्ला के दवाखाने लेजाकर उपचार करवाया गया। डाक्टर शुक्ला ने उसे बताया कि लक्ष्मी को टायफायड रोग है और उसका उपचार शुरू कर दिया। उपचार के दौरान लगभग 10 हजार रुपए का खर्च भी आ गया, लेकिन जब उसकी पत्नी को आराम नहीं लगा तो वह उसे उपचार कराने के लिए बैतूल लेकर गया।


जहां डाक्टरों ने उसे बताया कि महिला को टायफायड नहीं है, अभी तक महिला का गलत उपचार किया जा रहा था। यदि उसे बैतूल लाने में और देरी की जाती तो उसकी जान भी जा सकती थी। उमेश ने इस मामले में एसडीएम से उचित कार्रवाई की मांग की है। उमेश के साथ कांग्रेसी नेता सुमित शिवहरे भी शिकायत करने के लिए एसडीएम चनाप के पास पहुंचे थे। एसडीएम ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।


इधर प्रदेश कांग्रेस की सचिव राजरानी परिहार ने भी मंगलवार को एक शिकायती आवेदन एसडीएम चनाप को सौंपा। जिसमें उन्होंने डाक्टर प्रवीण शुक्ला द्वारा ताप्ती वार्ड की महिला गायत्री उर्फ नान्हीं पति हरीसिंग पंवार का गलत उपचार करने आरोप लगाया हैै। डॉ प्रवीण शुक्ला के हॉस्पिटल में महिला के गलत उपचार करने से उसकी कमर में इंफेक्शन से घाव बन गया जिसके बाद उसका बेतुल में ऑपरेशन हुआ। राजरानी परिवार द्वारा इस मामले में उचित कार्रवाई की मांग की गई।


एसडीएम ने दिए जांच के आदेश


इस पूरे मामले में मंगलवार को एसडीएम सीएल चनाप द्वारा जांच के आदेश जारी किए गए है। जारी आदेश में उन्होंने मुलताई बीएमओ पल्लव अमृतफले को निर्देशित किया है कि उक्त मामले की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। इस जांच आदेश में उन्होंने कांग्रेसी नेत्री राजरानी परिहार के शिकायती आवेदन का जिक्र भी किया है, जिसमें उन्होंने बीएमओ को पूरे मामले से अवगत करवाया और जल्द से जल्द जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आदेशित किया गया है। यहां उल्लेखनीय है कि डाक्टर शुक्ला के खिलाफ रोजाना शिकायती आवेदन आने से अब उक्त मामले तूल पकड़ रहे हैं, लोगों द्वारा उचित कार्रवाई की मांग की जा रही है।


मरीज के परिजनों और डाक्टर की बातचीत के आडियों हुए वायरल


इस पूरे मामले में सोशल मीडिया पर डाक्टर प्रवीण शुक्ला और मरीज के परिजनों की फोन पर हुई बात के चार आडियो वायरल हुए है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि प्रवीण शुक्ला द्वारा बैतूल के डाक्टर से उक्त महिला के उपचार के बदले पैसे महिला के परिजनों से नहीं लेनी की बात कह रहे है और बोल रहे है कि वह स्वंय इसका बिल पेड करेंगे। इसके अलावा मरीज के परिजनों से भी उनकी बात हो रही है, जिसमें वह परिजनों को दिलासा दे रहे हैं कि जो घाव बना है, वह जल्द ही ठीक हो जाएगा। उक्त आडियों के सही होने की पुष्ठी हमारे द्वारा नहीं की जा सकती है, लेकिन सोशल मीडिया पर उक्त आडियों जमकर वायरल है।


इनका कहना


इस मामले में मंगलवार को भी शिकायते प्राप्त हुई है, जिसके बाद मुलताई बीएमओ को इस मामले में जांच के लिए आदेशित किया गया है।   सीएल चनाप एसडीएम मुलताई।


Popular posts
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
प्रधानमंत्री जी की उम्दा सोच ने देश को बचा लिया, लेकिन जेहादियो ने कोहराम मचा दिया : नारायण त्रिपाठी
Image
यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद आसाराम ने मांगी जमानत, बोला- 80 साल का वृद्ध हूं, कोर्ट ने याचिका पर किया यह निर्णय
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image