73 साल में पहली बार मिलेगी सर्वाधिक बीमा राशि - शेखावत
73 साल में पहली बार मिलेगी सर्वाधिक बीमा राशि - शेखावत


TOC NEWS @ www.tocnews.org


ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567



इसी सप्ताह खिलेंगे किसानो के चेहरे



पूर्व विधायक दिलीप सिंह शेखावत ने बताया कि देश की आजादी के 73 साल में नागदा जं. खाचरौद तहसील में लगभग 26000 किसानों को वर्ष 2019 में सोयाबीन की अनावरी का बीमा की राशि 142 करोड़ रूपये मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार दिलायेगी।


आपने अभी भाजपा सरकार से 40000 रू प्रति हेक्टेयर के मान से मुआवजा मांगा। क्या 2019 में 90 इंच वर्षा हुई थी उस वक्त आपने कोई पत्र माननीय कमलनाथ जी को 40 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर के मुआवजे हेतु लिखा या मांग की थी केवल नौटंकी करना आता है।


शेखावत ने कहा कि वर्तमान विधायकजी को अब नौटंकी बंद कर देना चाहिये क्योंकि विगत वर्षो में नागदा-खाचरौद विधानसभा में वर्ष 2019 में करीब 90 इंच से ज्यादा वर्षा हुई थी लेकिन मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार किसानों को उनकी सोयाबीन की फसल का नुकसानी का उचित मुआवजा भी नहीं दिलवा पाई। 


वर्तमान में भी जो बीमा किसानो को मिल रहा है वह इसलिए मिल रहा है कि मध्यप्रदेश सरकार का अंशदान जो माननीय कमलनाथजी को 2200 करोड़ रूपये डालना था वह मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार के मुखिया माननीय शिवराजसिंह जी चौहान द्वारा मार्च 2020 में म.प्र. में भाजपा सरकार बनने के बाद 2200 करोड का अंशदान का भुगतान करने के कारण आज किसानों को बीमा राशि प्राप्त हो रही है।


वर्तमान कांग्रेस विधायकजी याद करो जब आपकी सरकारे मध्यप्रदेश में होती थी उस वक्त अनावरी का मापदंड पूरी तहसील में अगर ओले गिरते थे या पूरी तहसील में नुकसानी होती थी तो बीमा का हकदार किसान होता था। भाजपा की सरकार ने पहले प्रत्येक हल्के को और अब प्रत्येक खेत को इकाई माना है।


भाजपा सरकार चाहती है जिसका नुकसान हुआ है उसे लाभ अवश्य मिले।


शेखावत ने बताया कि यही कारण है कि वर्ष 2014 में जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी और जनता के आशीर्वाद से मैं विधायक था जब बड़गांव सेकड़ी चन्दवासला निवाडी इस पूरी पट्टी में ओले गिरे थे और हमने किसानों को आजादी के बाद पहली बार किसानो को बीमा दिलवाया था।


शेखावत ने बताया कि वर्ष 2016 में 5178 किसानो को 21/12/2016 को 6.71 करोड़ रूपये का बीमा फिर मिला था। शेखावत ने यह भी बताया कि 90 इंच वर्षा होने के बाद भी वर्तमान विधायक मुआवजा नहीं दिला पाए। लेकिन हमने 53 इंच वर्षा पर भी 45 हजार किसानो को 70 करोड़ से ज्यादा की राशि दिलवाई।


वर्तमान विधायक जी आप तो केवल किसानों को इतना बता देवे कि कांग्रेस की सरकारों में कितना बीमा पूर्व में मिला या आप पूर्व में कांग्रेस की सरकार में भी विधायक रहे है जब कभी बीमा व मुआवजा मिला क्या ? जनता को बरगलाना आता है। कर्ज माफ करा नहीं सके, झूठे प्रमाण पत्र बांट कर नौटंकी की गई। कभी सिंचाई का रकबा बढ़ाने की मांग की, क्षेत्र में डेम या तालाब बनवा नहीं पाए, उचित सिंचाई के लिए बिजली व्यवस्था कांग्रेस सरकार में करवा नहीं पाए। इसलिये माननीय विधायकजी झुठी वाहवाही लेने का प्रयास मत करो । यह किसान हितैषी भाजपा सरकार का किसान हित में अच्छी नीतियों का परिणाम है कि लगातार किसान के हित में निर्णय होते रहे है।


शेखावत ने यह भी बताया कि नागदा खाचरौद में पहली बार बाढ़ पीड़ीतो 3500 से जयादा लोगो को 1 करोड़ 44 लाख रूपये भाजपा सरकार के समय ही मिला जबकि नागदा खाचरौद विधानसभा में इसके पहले कांग्रेस सरकार में भी घरों में पानी घुसा था।


शेखावत ने वर्तमान विधायक दिलीपसिंह जी गुर्जर से यह भी पूछा कि आप याद करो जब मध्यप्रदेश में भा.ज.पा. की सरकार थी और 2018 में माननीय शिवराजसिंह चौहान ने सोयाबीन का 500 रूपये प्रति क्विंटल भावान्तर राशि देने की घोषणा कर बजट में प्रावधान भी कर दिया था किन्तु दिसम्बर 2018 में कांग्रेस की कमलनाथजी की सरकार बनते ही यह भावान्तर राशि किसानों को नहीं दी गई।


शेखावत ने कांग्रेसी विधायक से यह भी पूछा कि वर्ष 2019 में गेहूँ का प्रति क्विंटल 160 रू. बोनस की घोषणा माननीय कमलनाथ जी ने की थी तो क्या 160 रूपये बोनस आप किसानों को दिलवा पाये ? साथ ही लहसुन, प्याज, मूंग आदि की भावान्तर राशि बंद हो गई थी। इस संबंध में आपने मुख्यमंत्रीजी या शासन को कोई पत्र लिखा था। यह भी जनता को बताना चाहिये।



 



Popular posts
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
प्रधानमंत्री जी की उम्दा सोच ने देश को बचा लिया, लेकिन जेहादियो ने कोहराम मचा दिया : नारायण त्रिपाठी
Image
यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद आसाराम ने मांगी जमानत, बोला- 80 साल का वृद्ध हूं, कोर्ट ने याचिका पर किया यह निर्णय
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image