इंडेन गैस एजेंसी का काला कारनामा : गैस सिलेण्डर से गैस निकालकर कम वजन का सिलेंडर बेचने वाले इण्डेन गोदाम का खुलासा

 












गैस सिलेण्डर से अवैध रुप से गैस निकालकर कम वजन का सिलेंडर अशिक्षित, गरीबों में बेचने वाले इण्डेन गोदाम का पर्दाफाश

TOC NEWS @ www.tocnews.org


भोपाल // विनय जी. डेविड 9893221036 




भोपाल. थाना रातीबड पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना प्राप्त होने पर सूचना की तस्दीक हेतु ग्राम सरवर इंडेन आटो हाउस ग्राम सरवर स्थित गैस गोदाम में पहुंचकर देखा गया जहां वाहनों में गोदाम में 950 करीब इंडेन कंपनी के गैस सिलेण्डर गैस एजेंसी इंडेन आटो हाउस में रखे थे जिनमे गैस रिफलिंग का कार्य किया जा रहा था, जिसमें कुछ सिलेण्डर में 01 से 03 कि0ग्राम गैस कम थी, उक्त संबंध में सूचना नापतौल एवं खाद्य विभाग को दी गई ,


 जिसके उपरांत नापतौल व खाद्य विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा आकर सिलेण्डरों को चेक करने पर उक्त गैस गोदाम में 02 वाहन खडे पाए गए जिसमें इंडेन कंपनी के सिलेण्डर भरे जा रहे थे, सिलेण्डर में 1 से 03 किलो ग्राम कम वजन का लोड किया जा रहा था, उक्त संबंध मे गोदाम के मालिक अनिल खट्टर निवासी-श्यामला हिल्स भोपाल व मैनेजर विक्रम सिंह गौर पिता महेन्द्र सिंह गोर उम्र 40 साल पता-धीरेन्द्र खण्डेलवाल का मकान, पूजा कालोनी नीलबड से पूछताछ में बताया कि उक्त कार्य लॉकडाउन से ही कई दिनों से चल रहा था, 


उक्त गैस सिलेण्डर कम भरकर गांव के भोले भाले, गरीब व अशिक्षित लोगों को ही ये सिलेण्डर देते थे, जिससे किसी को कोई शक ना हो। इस प्रकार गैस सिलेण्डरों में कम भरकर उसका आर्थिक लाभ अर्जित किया गया। उक्त गैस गोदाम अनिल खट्टर निवासी-श्यामला हिल्स भोपाल का होना ज्ञात हुआ है। उक्त संबंध में मैनेजर व मालिक से नापतौल व खाद्य विभाग द्वारा पूछताछ की जाकर जानकारी एकत्र की गई एवं वेधानिक कार्यवाही की गई ।



Popular posts
वीडियो : प्रेमिका के साथ थाना प्रभारी रंगरेलिया मनाते रंगे हाथों पकड़ाये, पत्नी ने आकर धर दबोचा, TI लूँगी बनियान में भागे
Image
प्रधानमंत्री जी की उम्दा सोच ने देश को बचा लिया, लेकिन जेहादियो ने कोहराम मचा दिया : नारायण त्रिपाठी
Image
यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद आसाराम ने मांगी जमानत, बोला- 80 साल का वृद्ध हूं, कोर्ट ने याचिका पर किया यह निर्णय
Image
शिवराज सरकार 2020 के कार्यकाल के 8 महीने में 64 अतिथि शिक्षक आत्महत्या कर चुके, 25000 पत्रकार बेरोज़गार
Image
जनसंपर्क के सहायक संचालक मुकेश दुबे पर राज्य सूचना आयोग ने ₹25000 का जुर्माना ठोका, अधिरोपित शास्ति प्रत्यर्थी की सेवा पुस्तिका में अंकित करने का निर्णय
Image