सरकारी मदद से हुआ सुष्मिता के दिल में छेद की बीमारी का सफल ऑपरेशन

 











सरकारी मदद से हुआ सुष्मिता के दिल में छेद की बीमारी का सफल ऑपरेशन

TOC NEWS @ www.tocnews.org


खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036


जबलपुर - अपने मासूम बच्चे को छोटी सी उम्र में दिल की गंभीर बीमारी से लड़ते हुए देखना, किसी भी मां-बाप के लिए बहुत कष्टकारी और मुश्किल होता है।


विशेषकर ऐसे में जब इलाज के लिए आर्थिक मजबूरियां हों, तब परिजन पूरी तरह टूट जाते हैं। लेकिन भला हो शासन की राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम का जिसकी मदद से लाखों बच्चे दिल में जन्मजात विकृति की बीमारी से निजात पा चुके हैं।


ऐसी ही एक तीन वर्षीय लड़की सुष्मिता चौधरी का राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत स्वीकृत डेढ़ लाख रुपए से हाल ही में 31 अक्टूबर को श्री कृष्ण हृदयालय एण्ड क्रिटिकल केयर सेंटर नागपुर महाराष्ट्र में हृदय का सफल ऑपरेशन हुआ था।


जबलपुर शहर के बड़ी मदार टेकरी हनुमानताल निवासी सतीश चौधरी की बेटी सुष्मिता दिल में छेद की जन्मजात बीमारी से पीडि़त थी। प्लम्बर का कार्य कर परिवार का भरण-पोषण करने वाले सतीश के लिए बीमारी का इलाज करा पाना लगभग असंभव था। सुष्मिता की तबीयत तेजी से बिगड़ती जा रही थी, उसे बुखार रहने लगा और लगातार सीने में दर्द रहता था। डॉक्टरों ने जांच के बाद दिल में करीब 6 मिमी का छेद होना बताया। यह सुनते ही परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा।


समूचा परिवार चिंतित हो गया कि उनकी लाड़ली बिटिया के इलाज के लिए पैसों का इंतजाम कहां से होगा। ऐसे में वे मदद की आस में शासकीय सेठ गोविंददास जिला चिकित्सालय (विक्टोरिया हॉस्पिटल) पहुंचे। डॉक्टरों ने उनका हौंसला बढ़ाया और कहा कि बेटी सुष्मिता के इलाज के लिए सरकारी योजना से ऑपरेशन के लिए मदद मिल जायेगी। ऑपरेशन होने के बाद बिटिया ठीक हो जायेगी।


सुष्मिता के पिता सतीश को भरोसा हो गया कि चलो अब ऑपरेशन के लिए पैसा मिल जायेगा। जल्दी ही सुष्मिता के ऑपरेशन के लिए एक लाख पचास हजार रुपए की राशि स्वीकृत हुई और अब सुष्मिता का नागपुर में सफल ऑपरेशन भी हो चुका है। सतीश अब योजना और सरकार की तारीफ करते नहीं थक रहे। वे कहते हैं कि सरकार की मदद से ही उनकी बेटी का जीवन बचा है। इसलिए वे सरकार के आजीवन आभारी रहेंगे।


Popular posts
ग्रेसिम उद्योग के विस्तारीकरण के पूर्व 7 सूत्रीय मांग पत्र उद्योग चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला सहित बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भेजकर उठाई मांग
Image
जनसंपर्क विभाग के लोक सूचना अधिकारी श्रवण कुमार सिंह उपसंचालक ( विज्ञापन ) का षड्यंत्र विफल, राज्य सूचना आयोग का आदेश जानकारी एक माह में दे ऑल इंडिया स्माल न्यूज पेपर एसोसिएशन ( आइसना ) के सही मालिक को
Image
बारहवीं के रिजल्ट ने ले ली छात्रा की जान - बिगड़ा था अंग्रेजी का पर्चा
Image
सरकार और किसानों के बीच नहीं बनी सहमति, 3 दिसंबर को फिर होगी बातचीत, जारी रहेगा प्रदर्शन
Image
प्रधान मंत्री रोजगार योजना को विफल करते बैंक अधिकारी ऋण दलाल और बैंक अधिकारी कर रहे काली कमाई
Image